छत्तीसगढ़ कुम्भकार समाज की मांग

प्लास्टर ऑफ पेरिस के गणेश मूर्तियों पर पूर्णत: प्रतिबंध की मांग
प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी गणेश उत्सव के दौरान विभिन्न प्रकार के गणेश मूर्तियों की स्थापना की जायेगी। जिसमें प्लास्टर ऑफ पेरिस के मूर्तियों का भी निर्माण किया जाता है। यह मूर्तियां पर्यावरण एवं जलवायु के हिसाब से अत्यंत नुकसान देह होता है जिससे प्रकृति के साथ खिलवाड़ होता है एवं विसर्जन के दौरान पानी में नहीं गलने के कारण नदी नाले का वातावरण दूषित होता है। विगत दिनों सभी कुम्हार संगठनों के पदाधिकारियों द्वारा माननीय कलेक्टर महोदय रायपुर को इस संबंध में ज्ञापन सौंपा गया जिसमें इस प्रकार की मूर्तियों का पूर्णत: प्रतिबंध लगाने की मांग की गयी है यह मांग विगत वर्षों से लगातार की जा रही है लेकिन इस हेतु शासन को इसी दौरान छापा मारकर प्लास्टर ऑफ पेरसि की मूर्तियों को जब्त कर उसका निर्माण बंद करवाना चाहिए। जिससे प्रकृति की रक्षा की जा सके। इस प्रतिनिधि मंडल में छत्तीसगढ़ कुम्भकार समाज रायपुर के प्रदेश अध्यक्ष श्री मुरली कुम्भकार समाज की राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष श्रीमती शीला प्रजापति एवं रीवांपाली कुम्हार समाज के श्री शिवलाल चक्रधारी एवं कोसरिया समाज के श्री जगेराम चक्रधारी उपस्थित थे।

छत्तीसगढ़ कुम्भकार समाज, रायपुर पं. क्र. 1322
प्रधान कार्यालय - महादेवघाट, रायपुरा, रायपुर (छ.ग.)
प्रति,
माननीय आयुक्त महोदय,
नगर पालिक निगम, रायपुर (छ.ग.)
विषय : वार्ड क्र. 68 माधवराव सप्रे, ग्राम रायपुरा चौक पर स्वतंत्रता सेनानी स्व. श्री मीन्धुराम कुम्हार का प्रतिमा स्थापना एवं मुख्य मार्ग का उनके नाम पर करने हेतु आवेदन पत्र।
महोदय जी,
छत्तीसगढ़ कुम्भकार समाज रायपुर पंजी. क्र. 1322 आपसे निवेदन करते हैं कि वर्ष 1930 में ग्राम-गंगरेल (लमकेनी) धमतरी निवासी श्री मीन्धुराम कुम्हार जो कि जंगल सत्याग्रह आंदोलन के दौरान महात्मा गांधी जी के नेतृत्व में प्रभावित होकर उन्होंने भी इस आंदोलन में हिस्सा लिया उनकी आयु मात्र 18 वर्ष थी। इसी दौरान अंग्रेजों के गोली से दिनांक 25.09.1930 को शहीद हो गये थे। इस महान स्वतंत्रता सेनानी के याद में विगत वर्ष जिला धमतरी के बस स्टैण्ड में स्वागत द्वार पर स्व. मीन्धुराम कुम्हार के नाम पर पट्टिका लगाकर उनका नामकरण किया गया एवं प्रमुख चौक पर उनकी प्रतिमा स्थापित की गई है।

चूंकि वर्तमान में राजधानी रायपुर के अंतर्गत ग्राम-रायपुरा वार्ड क्र. 68 माधवराव सप्रे में हमारे कुम्हार समाज के लोग बाहुल्य संख्या में निवास करते हैं एवं जातिगत व्यवसाय कर अपना जीवन-यापन निर्वहन कर रहे हैं एवं वर्तमान में हमारे प्रदेश कार्यालय एवं छात्रावास भवन भी स्थित है। अत: आपसे निवेदन करते हैं कि महान स्वतंत्रता सेनानी स्व. मीन्धुराम कुम्हार की प्रतिमा स्थापित कर एवं मुख्य मार्ग का नाम उनके नाम पर नगर निगम के शासकीय अभिलेखों में दर्ज करवाने की कृपा करेंगे।
धन्यवाद
भवदीयगण
श्यामलाल चक्रधारी मुरली कुम्भकार
संरक्षक प्रदेश अध्यक्ष
छग कुम्भकार समाज, रायपुर (छ.ग.) छग कुम्भकार समाज, रायपुर (छ.ग.)
प्रतिलिपि :
1. श्रीमान प्रमोद दुबे, महापौर नगर पालिक निगम रायपुर छ.ग.।
2. एम.आई.सी., नगर पालिक निगम रायपुर छ.ग.। संस्कृति विभाग,
3. श्रीमान दीनबंधु ठाकुर, पार्षद वार्ड क्र. 68, माधवराव सप्रे वार्ड, रायपुर, छ.ग.।

रायपुरा चौक पर स्व. श्री मीन्धुराम कुम्हार की प्रतिमा स्थापित की जावे
दिनांक 21.09.2015 को छत्तीसगढ़ कुम्भकार समाज रायपुर के प्रदेश अध्यक्ष मुरली कुम्भकार के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल माननीय आयुक्त महोदय श्री डॉ. सारांश मित्तर, नगर पालिका निगम, रायपुर का एक मांग पत्र सौंपकर स्वतंत्रता सेनानी स्व. श्री मीन्धुराम कुम्हार की स्मृति को याद करते हुए रायपुर चौक पर उनकी प्रतिमा स्थापित कर मुख्य मार्ग जो कि रिंग रोड से लेकर महादेवघाट रायपुरा तक मुख्य मार्ग का नाम उनके नामकरण करने की संबंधी कार्यवाही यथाशीघ्र करने का आग्रह किया गया है। इस मांग पत्र की प्रतिलिपि माननीय महापौर महोदय, अध्यक्ष संस्कृति विभाग नगर पालिक निगम रायपुर एवं वार्ड पार्षद श्री दीनबंधु ठाकुर
को भी प्रेषित की गई है। स्व. श्री मीन्धुराम कुम्हार जो कि ग्राम-लम्केनी में (वर्तमान में गंगरेल बांध) धमतरी के निवासी थे। सन् 1930 के जंगल सत्याग्रह के आंदोलन में गांधी जी के विचारों से प्रेरित होकर मात्र 18 वर्ष की आयु में ही आंदोलन में भाग लेकर अपने देशभक्ति का परिचय दिया। दिनांक 25.09.1930 को अंग्रेजों की गोली का शिकार होकर भारत मां की चरणों में प्राण त्याग दिये। इन्हीं के याद में धमतरी नगर पालिका परषिद ने विगत वर्ष शहर के चौक पर उनकी प्रतिमा स्थापित कर एवं धमतरी बस स्टैण्ड के मुख्य स्वागत द्वार पर उनके नाम का पट्टीकरण अंकित किया गया।
अत: चूंकि वर्तमान में रायपुर छत्तीसगढ़ की राजधानी है एवं ग्राम रायपुरा में अत्यधिक संख्या में निवासरत है एवं अपना परंपरागत व्यवसाय कर जीवकापार्जन कर रहे हैं। इसी संदर्भ में दिनांक 25.09.2015 को प्रात: 9:00 बजे प्रदेश कार्यालय एवं छात्रावास भवन में स्वङ मीन्धुराम जी कुम्हार को उनके पुण्यतिथि पर स्मरण कर उनके द्वारा दिये गये बलिदान को याद किया गया। इस अवसर पर संरक्षक श्री श्यामलाल चक्रधारी, प्रदेश अध्यक्ष श्री मुरली कुम्भकार, रायपुर जिला सचिव श्री नंदकुमार चक्रधारी, सहसचिव श्री छबिराम चक्रधारी, युवा प्रकोष्ठ कोषाध्यक्ष श्री हेमलाल चक्रधारी, रायपुरा केन्द्र प्रधान श्री उत्तम च्रकधारी एवं सरपंच गिरवर चक्रधारी के अलावा छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रजापति कुम्हार समाज के संयोजक डॉ. राजेन्द्र कुमार प्रजापति (कृषि वैज्ञानिक), उपाध्यक्ष श्री पन्नालाल प्रजापति, श्री मिन्टू प्रजापति, श्री सुरेन्द्र कुमार प्रजापति ने अपनी सहभागिता प्रदान कर इस कार्यक्रम को सफल बनाया।

Tags: